पत्रकारों की नौकरी पर कैंची

अंग्रेजी न्यूज वेबसाइट ‘स्क्रॉल डाट इन’ के संपादकीय विभाग में कार्यरत 16 लोगों की नौकरी पर कैंची चल गई है और उन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है। संपादकीय के अलावा प्रॉडक्शन, टेक्नोलॉजी, मार्केटिंग टीम से भी कुछ लोगों को नौकरी से हटाया गया है। कुल 20 लोगों की नौकरी पर तलवार चली है। बताया जाता है कि यहां संपादकीय विभाग में 40 पत्रकार कार्यरत थे, जिनमें अब 24 बचे हैं। इसमें फील्ड में काम करने वाले रिपोर्टर और स्क्रॉल की हिंदी न्यूज वेबसाइट ‘सत्याग्रह’ में काम करने वाले पत्रकार शामिल नहीं हैं।

 कर्मचारियों को बताया गया था कि कुछ बिजनेस कारणों से कंपनी में कुछ बदलाव किए जा रहे हैं और 31 मई से कुछ पदों का पुनर्मूल्यांकन करने के बाद यह निर्णय लिया गया है। कर्मचारियों को तीन जून तक अपना इस्तीफा सौंपने के लिए कहा गया था। इसके बाद कर्मचारियों को जून-जुलाई का वेतन दिया जाएगा। हालांकि, नौकरी से निकाले गए अपने कर्मचारियों को वेबसाइट ने आश्वासन दिया है कि वह दूसरी नौकरी तलाशने में उनकी मदद करेगी।

इसके अलावा इस वेबसाइट ने विडियो स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म ‘हॉटस्टार’ पर प्रसारित होने वाले अपने अवॉर्ड विनिंग विडियो शो ‘Your Morning Fix’ को भी रोक दिया है। इस बारे में ‘स्क्रॉल’ के एडिटर नरेश फर्नांडिस का कहना है, ‘पिछले पांच सालों में ग्राउंड रिपोर्टिंग के मामले में हमने अच्छी पकड़ बनाई है। इस दौरान हमारा काफी विस्तार हुआ। हालांकि, अपना रेवेन्यू जुटाने के लिए भी हमने काफी प्रयास किए, लेकिन वर्तमान आर्थिक स्थिति में हमें इतने बड़े आकार में संस्थान को चलाने में दिक्कत हो रही है। यह काफी दुर्भाग्यपूर्ण है कि हमें अपने टैलेंटेड साथियों को नौकरी से निकालने की प्रक्रिया अपनानी पड़ी है।’